Possible reasons for SriLankan Church Bombing



जैसे ही श्रीलंका के अलग अलग शहरो में चर्च पर हुए आतंकी हमले की खबर मिली तभी दिमाग में घंटिया बजने लगी की ऐसा कैसे हुआ चर्च पर हमला और वो भी श्रीलंका में ???

क्युकी अमेरिका या यूरोपीय देशो में चर्च पर हमला एक साधारण घटना प्रतीत होती है. मगर श्रीलंका में चर्च पर हमला ये तो बड़ा असाधारण सी बात लगी. तब शोध शुरू करते हुए मैं सबसे पहले श्रीलंका के धार्मिक आधार पर जनसँख्या का आकड़ा देखा.



धर्म के आधार पर श्रीलंका की जनसँख्या देख ऐसा बिलकुल नहीं लगता की वंहा हमले वाली कोई ऐसी बात थी. क्युकी मुस्लिम ओर क्रिस्चियन दोनों ही समुदाय आबादी के हिसाब से 10 प्रतिशत से भी कम है. 70 प्रतिशत बौध धर्म के साथ श्रीलंका एक बौध देश प्रतीत होता है.


फिर शक ओर संभावनाओं की सुई घुमती है पिछले दिनों न्यूज़ीलैण्ड की एक मस्जिद में हुए आतंकी हमले की ओर जंहा एक बन्दूकधारी Breton Tarrant ने भरी मस्जिद में दिन दहाड़े गोलिया चला दी जिससे उस हादसे में तकरीबन 50 लोगो की जान चली गयी.

शायद ये वही हमला था जिसने अरब देशो में बैठे इस्लामी आकाओं को बदले की भावना में भर दिया ओर न्यूज़ीलैण्ड में हुए हमले के जवाब में श्रीलंका में चर्च पर हमला करवाया गया.

श्रीलंका ही क्यों: 

  • जैसा की श्रीलंका एक टापू देश है जिसकी जनसँख्या भी काफी कम है तो सुरक्षा की दृष्टी से श्रीलंका एक आसान टारगेट था. 
  • पिछले कुछ समय से क्रिस्चियन मिशनरीज श्रीलंका ओर दक्षिण भारतीय राज्यों में काफ़ी बड़े स्तर पर कार्य कर रही है ओर यहाँ के गरीब ओर पिछड़े लोगो को धर्म परिवर्तन के लिए प्रेरित कर रही है. 
  • ये इस्लामिक दल द्वारा क्रिश्चियनिटी धारण कर रहे लोगो के लिए भी सन्देश के तौर पर देखा जा सकता है की यदि आप चर्च जाओगे या क्रिस्चियन बनोगे तो आप पर हमला होगा. 
  • श्रीलंका के मुस्लिम ओर बोद्ध समुदाय के बीच किसी हद तक खीचा तानी चलती रही है मगर पिछले कुछ दशको से बड़े हमले की नौबत नहीं आई. मगर ये हमला अन्य धर्मो को भयभीत करने का तरीका हो सकता है.

  
श्रीलंका का ये हमला मुख्यतः न्यूज़ीलैण्ड में हुए मस्जिद हमले का जवाब माना जा सकता है.

Comments